मसूड़ों की सूजन (GINGIVITIS) –


मसूड़ों की सूजन (GINGIVITIS) –
मसूड़ों पर चोट लगने या अधिक गर्म पदार्थ व सख्त चीज़ें खाने से मसूड़ों पर दबाव पड़ता है,जिससे मसूड़ों में सूजन उत्पन्न हो जाती है | सूजन होने से मसूड़े ढीले पड़ जातें हैं जिससे दांतों का नुकसान होता है | इसका इलाज न होने पर दांत हिलकर गिरने लगते हैं | आज हम आपको मसूड़ों की सूजन के लिए कुछ सरल उपचार बताएंगे –

१- भुनी फिटकरी,सेंधा नमक,काली मिर्च तथा हरड़ का छिलका इन सबको १०-१० ग्राम की मात्रा में लें | इन्हें अच्छी तरह कूट कर छान लें | प्रतिदिन सुबह-शाम इस मंजन को मसूड़ों पर मलने से मसूड़ों का ढीलापन,सूजन व दर्द ख़त्म हो जाता है |
२- सौंठ को पीसकर चूर्ण बना लें | इस ३ ग्राम चूर्ण को पानी के साथ प्रतिदिन सुबह-शाम खाने से मसूड़ों की सूजन में लाभ होता है |

३- सुपारी को जलाकर इसका बारीक चूर्ण बना लें | इसे मसूड़ों पर मंजन की तरह मलने से मसूड़ों का ढीलापन ख़त्म हो जाता है |

४- एक ग्राम पिसा हुआ सेंधा नमक और एक ग्राम मीठे सोडे को १०० मिलीलीटर पानी में उबालें | इस हलके गर्म पानी से प्रतिदिन सुबह- शाम कुल्ला करने से मसूड़ों की सूजन ठीक हो जाती है |

५- प्याज में नमक मिलाकर खाने से एवं प्याज को पीसकर मसूड़ों पर दिन में २-३ बार मलने से मसूड़ों की सूजन ख़त्म हो जाती है और मसूड़े स्वस्थ बन जाते हैं |

६- हरड़,बहेड़ा और आंवला को १०-१० ग्राम की मात्रा में लेकर कूटकर रख लें | इसको ८०० मिलीलीटर पानी में पकाएं ,जब यह २०० मिलीलीटर बच जाए तब इसमें से ३०-६० मिलीलीटर पानी से दिन में दो से तीन बार गरारे करने से मसूड़ों की सूजन ठीक हो जाती है |

मसूड़ों की सूजन (GINGIVITIS) - मसूड़ों पर चोट लगने या अधिक गर्म पदार्थ व सख्त चीज़ें खाने से मसूड़ों पर दबाव पड़ता है,जिससे मसूड़ों में सूजन उत्पन्न हो जाती है | सूजन होने से मसूड़े ढीले पड़ जातें हैं जिससे दांतों का नुकसान होता है | इसका इलाज न होने पर दांत हिलकर गिरने लगते हैं | आज हम आपको मसूड़ों की सूजन के लिए कुछ सरल उपचार बताएंगे - १- भुनी फिटकरी,सेंधा नमक,काली मिर्च तथा हरड़ का छिलका इन सबको १०-१० ग्राम की मात्रा में लें | इन्हें अच्छी तरह कूट कर छान लें | प्रतिदिन सुबह-शाम इस मंजन को मसूड़ों पर मलने से मसूड़ों का ढीलापन,सूजन व दर्द ख़त्म हो जाता है | २- सौंठ को पीसकर चूर्ण बना लें | इस ३ ग्राम चूर्ण को पानी के साथ प्रतिदिन सुबह-शाम खाने से मसूड़ों की सूजन में लाभ होता है | ३- सुपारी को जलाकर इसका बारीक चूर्ण बना लें | इसे मसूड़ों पर मंजन की तरह मलने से मसूड़ों का ढीलापन ख़त्म हो जाता है | ४- एक ग्राम पिसा हुआ सेंधा नमक और एक ग्राम मीठे सोडे को १०० मिलीलीटर पानी में उबालें | इस हलके गर्म पानी से प्रतिदिन सुबह- शाम कुल्ला करने से मसूड़ों की सूजन ठीक हो जाती है | ५- प्याज में नमक मिलाकर खाने से एवं प्याज को पीसकर मसूड़ों पर दिन में २-३ बार मलने से मसूड़ों की सूजन ख़त्म हो जाती है और मसूड़े स्वस्थ बन जाते हैं | ६- हरड़,बहेड़ा और आंवला को १०-१० ग्राम की मात्रा में लेकर कूटकर रख लें | इसको ८०० मिलीलीटर पानी में पकाएं ,जब यह २०० मिलीलीटर बच जाए तब इसमें से ३०-६० मिलीलीटर पानी से दिन में दो से तीन बार गरारे करने से मसूड़ों की सूजन ठीक हो जाती है |

Lik



परोपकाराय फलन्ति वृक्षा: परोपकाराय वहन्ति नद्यः।


परोपकाराय दुहन्ति गावः परोपकाराय इदं शरीरम्।।






0001.gif

om2.gif
h.gifa.gifr.gifi.gifh.gifa.gifr.gifa.gifn.gifk.gif ( hari krishnamurthy K. HARIHARAN)"
” When people hurt you Over and Over
think of them as Sand paper.
They Scratch & hurt you,
but in the end you are polished and they are finished. ”

யாம் பெற்ற இன்பம் பெருக வையகம்
visit my blog https://harikrishnamurthy.wordpress.com
follow me @twitter lokakshema_hari
http://harikrishnamurthy.typepad.com
http://hariharan60.blogspot.in
http://facebook.com/krishnamurthy.hari

VISIT MY PAGE https://www.facebook.com/K.Hariharan60 AND LIKE